Latest Dhoka Shayari In Hindi For GF BF 2022

Dhoka Shayari In Hindi | dhoka shayari in hindi for girlfriend | dhoka shayari in hindi images | dhokebaaz shayari | New dhoka shayari hindi | dhoka shayari hindi | dhoka shayari with images | dhoka shayari for gf bf | dhoka shayari in hindi for boyfriend | dhoka shayari in hindi 2 lines | dhoka shayari in hindi download | dhoka shayari in hindi for friend | Sad Dhoka shayari |

धोखा किसी के विश्वास का कत्ल धोखा कहलाता है।

“घबराहट” और “घबराना” के अन्य प्रयोग के लिए मिस्टीफाई (डिसऐम्बीगुएशन) देखें. धोखा, छल, बेईमानी, झांसा, डराना और चाल सच बताने के ऐसे तरीके हैं जो पूर्णतया सच नहीं होते। यह आधे सच और आधे झूठ का मिश्रण होते हैं …
इसके लिए ध्यान भंग, छल या छिपाव का प्रयोग भी किया जा सकता है।

प्यार में धोखा क्यों मिलता है।

प्यार एक ऐसा खूबसूरत एहसास है जो किसी भी उम्र के लोगों में देखा जा सकता है. इस एहसास को ज्यादातर लोग महसूस करना चाहते हैं. लेकिन अकसर देखा जाता है कि … शुरुआती दिनों में लोग इस प्यार के रिश्ते में इस तरह खो जाते हैं कि उनको प्यार के अलावा कोई दूसरा रिश्ता अच्छा ही नहीं लगता है
लेकिन कहते हैं ना कि समय के साथ हर चीज बदल जाती है. ऐसा ही कुछ प्यार के रिश्ते में भी होता है. कुछ समय के बाद रिश्तों की चमक फीकी पड़ने लगती है और लोगों के बीच प्यार की जगह तनाव ले लेता है
इस तनाव के कारण कई बार कुछ ऐसी वजहें पैदा हो जाती हैं, जो रिश्ते को अंदर तक तोड़ देती हैं. तो आइए जानें, ऐसी ही कुछ बातें जो हो सकती हैं रिश्ते में धोखा देने की वजह…

दिल ही दिल उनको अपने पार्टनर को लेकर असुरक्षा महसूस होने लगती है. जो रिश्ते में धोखे का एक कारण बनता है. कई बार देखा गया है कि प्यार में हम सब इतना खो जाते हैं कि खुद के सम्मान को ताक पर रखकर पार्टनर की हर बात को मानने लगते हैं।

तो चलिए सुरु करते है Dhoka Shayari In Hindi कमैंट्स बॉक्स में जरूर बताएं आपको ये पोस्ट लगा। 

Dhoka Shayari In Hindi

धोखा तो मुझे कम्बख्त जिन्दगी ने दिया है,
फिर मोहब्बत का नाम लेकर इसे बदनाम क्यों करना।


हमारी ही गलती थी कि हमने उसे अपने सर का ताज बना लिया, फिर किससे करूँ शिकवा की उस ने मुझे धोखा दिया….


नफरतें बेहतर है उस धोखे से,,
जिसे लोग इश्क़ कहते हैं।।


कभी घमंड ना करना अपनी मोहब्बत पे,
तुमसे बेहतर मिलने पर तुम ठुकरा दिए जाओगे।


कोई उम्दा कलाकार का पुरूस्कार उन्हें भी दे दो,
वो वफादारी का झूठा किरदार क्या खूब निभाते हैं।


महफिल से निकले तेरी तो ये इल्म हुआ
तेरी मोहब्बत का खेल हर चौराहे पर बिछा हुआ है।


पहले इश्क़ में तूने मुझको धोखा दिया है,
दूजा लोगों को हसने का मौका दिया है।


हजारों लोग मिले मौजों की रवानी में,
तुम ही बस याद रहे जिन्दगी की कहानी में….


शुक्र है खुदा का उसने धोखा खाने वालों में रखा है, धोखा देने वालों में नहीं…..


आखिर गिरते हुए आंसू ने पूछ ही लिया
मुझे गिरा दिया ना उसके लिए, जिसके लिए तू कुछ भी नहीं।।


सीख नहीं पा रहा हूँ मीठे झूठ बोलने का हुनर
कड़वे सच ने न जाने हमसे कितने लोग छीन लिए।


मुस्कुराने से शुरू और रुलाने पे खतम,, ये वो जुर्म है,
जिसे लोग मोहब्बत कहते हैं।


Dhoka Shayari In Hindi Images

Dhoka Shayari In Hindi Images

सब पूछते हैं मुझसे…

आखिर बेवफाई पर ही क्यूँ लिखते हो,

अब इन्हें कौन समझाए,

जो मिलेगा वही पन्नों पे उतारा जाएगा।


गनीमत थी कि राज मालूम हो गए,
वर्ना इस्तेमाल तो, पानी की तरह हो रहे थे।


मुझमे हजार खामियां हैं माफ कीजिए,
मुझमें हजार खामियां हैं माफ कीजिए,,,,,,
पर अपने आइने को भी तो कभी साफ कीजिए।


ना लबों से निकलते हैं
ना आंखों से छलकते हैं
ना कागज पर उतरते हैं
कुछ दर्द ऐसे भी होते हैं
जो दुनिया से छुप कर दिल के अंदर ही पलते हैं।


वह छोड़ के गयी हमें…..
न जाने उसकी क्या मजबूरी थी…..
खुदा ने कहा इसमे उसका कोई कसूर नहीं….
ये कहानी तो मैंने ही अधूरी लिखी थी।


है कोई वकील इस जहान में,,,
जो हारा हुआ इश्क़ जिता दे मुझको……

Also Read


Dhoka Shayari In Hindi Images

Dhoka Shayari In Hindi Images

हंसी बहुत आती है अब,
जब कोई कहता है इश्क़ भी सच्चा होता है।

_#Emptiness


हमारी खुशियों को किसी और के नाम करके,
वो कितनी आसानी से कह गए खुश रहना।


धोखा भी बादाम जैसा है
जितना खाओगे उतनी अक्ल आएगी…..


धोखा हुआ क्यूंकि होना था, ये तो जिन्दगी का हिस्सा है,
कभी खुशी कभी गम ये तो बस चंद लम्हों का किस्सा है।


अक्सर मैं धोखा खा जाता हूँ
उनकी मीठी मीठी बातों से
भूल जाता हूँ उनके सितम
जब जागा करता था कई रातों से।।


पहले उसके प्यार भरे लफ़्ज़ याद आते थे
अब उसके धोखे में बोले गए शब्द याद आते हैं।


चाय और धोखा दोनों से पुराना रिश्ता है
चाय से दिन की शुरुआत हुई और धोखे से प्यार की…..


मुझे मालूम ना था इतना बेदर्द जमाना होता है
अक्सर धोखा वही देता है
जिसपे भरोसा पुराना होता है।


हिज्र की रात वो हमें एक तोहफा दे गयी
चाहत थी हमें वफा की वो तो धोखा दे गयी।।


यूँ रिश्तों में बेईमानी नहीं होती
मोहब्बत नहीं है तो सीधे बोल दो
यूँ दिल लगाकर किसी के साथ धोखाधड़ी सही नहीं होती।।


कैसे कह दूँ बदले में कुछ नहीं मिल,
धोखा कोई छोटी चीज तो नहीं है।।


उसे देखने के बाद हमारा हाल कुछ ऐसा हो जाता है
जख्म सूखने के बाद भी ताजा हो जाता है।


ना जाने एक आशिकी कहाँ ले जाएगी
खुदा से रोज ये हुआ है
मोहब्बत में धोखा ना मिले
वरना फिर मेरी मोहब्बत जीत जाएगी।।


तुमसे जुड़ी हर चीज संभाल रखी है मैंने
तुम्हारे तोहफे भी, तुम्हारे धोखे भी
तुम्हारी बातें भी, तुम्हारी यादें भी…..


हजारों धोखे खाए हैं, यूँ तो गैरों से जमाने में
पर अपनों की एक चोट ने लाचार कर दिया।।


दिल कहीं और है अब दिमाग चल नहीं रहा है
शायद कोई बीमारी है या फिर किसी ने
धोखा दिया है उसकी निशानी है।


हकीम की मरहम भी कम नहीं आती
जब इश्क़ मे जवानी धोखा है खाती…..


मेरे अपने मुझे बर्बाद करना चाहते थे
ख़ैर हमने इश्क़ कर लिया
हो गया वो सब जो वो चाहते थे।


किसी को मौका मत दो
क्या पता वो कब तुम्हें धोखा दे दे……


ये मेरी मुस्कुराहट बस एक धोखा है
मेरे जैसा बनने का तुम ख्याल भी ना करना।


फूलों के ढेर में
वो काँटे छिपा रही है
इश्क़ का वादा मुझसे है
प्यार किसी और पर लुटा रही है।


दिल तो रोज कहता है
मुझे कोई सहारा चाहिए
फिर दिमाग कहता है
क्यूँ तुम्हें धोखा दोबारा चाहिये।


वजह चाहे जो भी हो
या फिर कोई मजबूरी हो
अगर बीच रास्ते पे छोड़ जाओगे
तो धोखेबाज ही कह लाओगे।


तेरी यादें मुझको मुझसे ही लडा रहीं हैं
‘धोखेबाज’ हर बात पर हंसना तेरी अदा है, या मेरा मजाक उड़ा रही है।


जमाना वफादार नहीं तो फिर क्या हुआ,
“धोखेबाज” भी तो हमेशा अपने ही होते हैं।


मुझे जिससे उमीद थी वो ना उम्मीद कर गए हैं
ये वही लोग थे जो जान तक देने की बातें करते थे।


उम्मीद ना कर इस दुनिया में, किसी से हम दर्दी की
बड़े प्यार से जख्म देते हैं, सिद्दत से चाहने वाले…..


बारिश का मौसम भी तेरी तरह धोखेबाज है
तु याद आकर चली जाती है
ये याद दिला कर चला जाता है।


कभी- कभी ऐसा लगता है जैसे
“प्यार”
“धोखा” का ही दूसरा नाम है।


मेरी जिन्दगी का खेल शतरंज से भी मजेदार निकला
मैं हारा भी तो अपने ही बादशाह से…..


धोखेबाज तुम पहले से ही थे,
या अभी अभी आदत डाली है
पहले भी कभी किसी को लूटा है
या सिर्फ़ हमसे ही कोई दुश्मनी निकाली है।


मैं तो समझ रही थी ये मुमकिन नहीं कभी
तूने भुला कर वाकई हैरान कर दिया।


तेरे इश्क़ में कुछ इस कदर बर्बाद रहा,
ना किसी ने हमें याद रखा ना हमें कोई याद रहा।


इस दुनिया का यही दस्तूर है मेरे यार,
यहां तुम्हें धोखा देता है तुम्हारा ही प्यार


दूसरा मौका सबको मिलता है ‘ताबिश’..
पहली बाजी सबने हारी होती है।

Read More

अगर आप को Dhoka Shayari In Hindi  ये पोस्ट पसंद आया तो  पोस्ट को Like और Share जरूर करे और Comment Box में बताये आप को और किस किस Topic पर Shayari, Quotes, Status And Massages चाहिए तब तक के लिए धन्यबाद !!!

Leave a Comment