30 heart touching life poetry in hindi


life poetry in hindi



किसी के लिए नशा 🍷तो किसी के लिए कुछ कर दिखाने की ख्वाहिश है🙄 जिन्दगी….

किसी के लिए प्यार 😘तो किसी के लिए माँ बाप👨‍👩‍👦 है जिन्दगी…..
किसी के लिए ऐश् – ओ🛌 आराम तो किसी के लिए दर्दनाक😥 मंजर है जिन्दगी…..
किसी के लिए किताबें 📚तो किसी के लिए पढ़ने 📖का सपना है जिन्दगी…..
किसी के लिए उसका गुरूर😎 तो किसी के लिए आत्मविश्वास🤗 है जिन्दगी…..
पर किसी के लिए दूसरों को खुशी 😆देने का नाम है जिन्दगी….
औरों के लिए अपनी जान😑 खतरे में डालने का नाम है जिन्दगी….
कुछ ऐसी ही है यह प्यारी😚 सी जिन्दगी♥️….

Kisi ke liye nasha🍷to kisi ke liye kuch kar dikhane ki khwahish 🙄hai jindagi…..
Kisi ke liye pyar😘to kisi ke liye maa bap👨‍👩‍👦hai jindgi…..
Kisi ke liye aish-o aaram🛌to kisi ke liye dardnak 😥manjar hai jindgi…..
Kisi ke liye kitabe📚to kisi ke liye padhne 📖ka sapna hai jindgi……
Kisi ke liye uska guroor 😎to kisi ke liye aatmvishwas🤗 hai jindagi……
Par kisi ke liye dusron ko khushi😆 dene ka naam hai jindagi…..
Auron ke liye apni jan😑 khatre me dalne ka naam hai jindagi…..
Kuch aesi hi hai yah pyari 😚si jindgi ♥️…..




हमारी तमन्ना हमारे मक़सद सभी पूरे नहीं 🤞 होते,
नींद 😑 में दिखने वाले सपने, जिन्दगी की मुश्किल से न्यारे नहीं 🤞 होते,
सच्चाई रहती है जिन्दगी 🤘 में, झूठ के आसरे नहीं होते,
जीते है हम अपने लिए😎 जिन्दगी में, किसी के सहारे नहीं 🤞 होते,
मिल जाता है किसी को मुकाम अपना 😴,
पर हर किसी को ये मुकाम प्यारे 😑नहीं होते,
यूं तो यादें 😴 भी अनमोल होती हैं, पर यादों 😴 के सहारे जिन्दगी 🤘 के गुजारे नहीं होते,
हंसी 😊आती है हमारे होंठों💋पर, लेकिन हर ख़ुशी को ये होंठ गवारे नहीं 🤞 होते,
झील सी आँखों 👀 में नजर के कोई किनारे नहीं 🤞 होते,
कट जाता है वक़्त 🕗 ये सोचकर, कि हर बार पौधे🌿हरियारे नहीं 🤞 होते…!!

Hamari tamanna hamare maksad sabhi pure nahi 🤞 hote,
Neend 😑 me dikhne wale sapne, jindagi ki mushkil se nyare nahi 🤞 hote,
Sacchai rahti hai jindagi🤘 me, jhuth ke aasre nahi hote,
Jeete hai hum apne liye 😎jindagi me, kisi ke sahare nahi 🤞 hote,
Mil jata hai kisi ko mukam apna😴,
Par har kisi ko ye mukam pyare😑nahi hote,
Yun to yaden😴bhi anmol hoti hai, par yadon 😴ke sahare jindagi 🤘 ke gujare nahi hote,
Hasi 😊aati hai hamare hothon 💋par, lekin har khusi ko ye honth gavare nahi🤞 hote,
Jheel si aanhkon👀me najar ke koi kinare nahi 🤞 hote,
Kat jata hai waqt 🕗 ye sochkar, ki har paudhe 🌿hariyare nahi🤞hote….!!




life poetry in hindilife poetry in hindi


तमाम कोशिशें नाकाम हो गयी 🤞ये आँसू 💦छुपाने की,
कितनी आरजू थी 🤗 तुझे पाने की,
वक़्त 🕗 बदला हालात बदले,
अब दुआ है बस तुझे भुलाने 😑की,
तेरी 😟 बेवफ़ाई चुपके से सहते हैं,
दर्द 😖 कितना भी हो पर कुछ नहीं 🤞 कहते हैं,
कोई रो – रो 😥 कर अपना दर्द दिखाता है,
और हम हंस हंस😊 कर दर्द छिपाते हैं..!!

Tamam koshishen nakam ho gayi 🤞ye aansu💦chhupane ki,
Kitni aarju thi 🤗tujhe pane ki,
Waqt 🕗 badla halaat badle,
Ab dua hai bas tujhe bhulane 😑ki,
Teri😟 bewafai chupke se sahte hai,
Dard 😖 kitna bhi ho par kuch nahi 🤞 kahte hai,
Koi ro-ro😥kar apna dard dikhata hai,
Or hum has has😊 kar dard chhipate hai…!!




वीरान जिन्दगी में आ के जिन्दगी को खूबसूरत💞 बना गए,
तन्हा थे हम जिन्दगी में आप उम्मीद का दिया🔥 जला गए…!
पतझड़ भरी जिन्दगी में मेरी आप फूल 🌹खिला गये,
जिन्दगी की नैया 🚣को पतवार बन के पार लगा गए…
अचानक से आए और जिन्दगी को आबाद 😘कर गए,
प्यार 💖करते करते जिन्दगी का तुम व्यवहार सिखा गए…
कैसे चुकाउँगी मैं कर्ज तुम्हारा इस जिन्दगी में🙄,
मेरे दिल♥️ का हर कतरा तुम अपने नाम 🤗कर गए l

Veeran jindagi me aa ke jindagi ko khoobsoorat💞 bana gaye,
Tanha the ham jindagi me ap ummid ka diya jala🔥gaye……!
Patjhad bhari jindagi me meri aap Phool 🌹khila gaye,
Jindagi ki naiya🚣 ko patvar ban ke paar laga gaye….
Achanak se aaye or jindagi ko aabad😘kar gaye,
Pyar💖 karte karte jindagi ka tum vyavhar sikha gaye….
Kese chukaungi main karj tumhara is jindagi me🙄,
Mere dil♥️ka har katra tum apne naam 🤗kar gaye…..!!




जिन्दगी…..
हाँ मिली थी इक रोज हमें भी एक👆 जिन्दगी,
उसकी उँगलियों में🤘 उलझी… लिपटी हुई सी l
वो उलझाती, सुलझाती, फिर उलझाती रही
जैसे कोई बच्चा 👶खेलता हो खिलौने👓 से l
फिर यूं हुआ कि गांठे💢 पड़ गयी उन धागों📉 में,
नहीं 🤞 सुलझा सकी वो फिर, बावजूद🙄 लाख कोशिश के l
घुटन सी हो रही थी, उस जिन्दगी को, मेरी जिन्दगी को,
जिन्दगी जो अब भी सुलझना🙄 चाहती थी फिर से जीना चाहती थी♥️ l
पर नहीं… सुलझी🤗 फिर वो, हाँ कुछ धागे टूटने लगे थे,
धागे रिश्ते के, वो धागे 📉जिनमे उलझी थी एक 👆 जिन्दगी l
हाँ 😊मिली थी इक रोज…. हमें भी एक 👆 जिन्दगी ♥️……

Jindagi…..
Ha mili thi ik roj hume bhi ek 👆 jindagi,
Uski ungliyon 🤘me uljhi… Lipti hui si..!!
Vo uljhaati, suljhaati, fir uljhaati rahi,
Jese koi baccha 👶khelta ho khilone 👓se….!!
Fir yun hua ki ganthe💢pad gayi un dhagon📉 me,
Nahi🤞suljha saki vo fir,
Bavjud🙄lakh koshish ke…..!!
Ghutan si ho rahi thi, us jindagi ko, meri jindagi ko,
Jindagi jo ab bhi sulajhna🙄 chahti thi fir se jeena chahti thi♥️….!!
Par nahi…. Suljhi🤗 fir vo, ha kuch dhage tootne lage the,
Dhage rishte me, vo dhage📉jinme uljhi thi ek 👆 jindagi….!!
Ha mili 😊thi ik roj….. Hame bhi ek👆jindagi♥️……..




हूँ खड़ा🕺 तेरी राह में आज भी वहीं में,
अपनी नजर एक 👆 बार मोड़ तो सही तू,
मेरी खामोशियां 😑करती है सिर्फ तेरी बातें,
मेरी तन्हाइयों😑 को भाती है सिर्फ तेरी यादें,
एक 👆 तेरी ही तलाश में तो रहती हैं मेरी आँखें👀,
मेरी चाँद🌙 के किस्से उस चाँद🌙 से करते कटती हैं ये रातें⭐,
सपने सारे बिखर गए थे और संग उनके मैं 🙄भी,
तूने ही तो था संभाला मेरे सपनों को और मुझे 😊भी,
कि फिर से अब सब बिखर गया है…. इंतजार😑 है तेरा…. इन्हें भी और मुझे भी….
ऐ जिन्दगी♥️ तू वापस आजा, संभाल ले सिर्फ मुझे ही l

Hun khada 🕺teri rah me aj bhi wahi main,
Apni najar ek 👆 bar mod to sahi tu,
Meri khamoshiyan 😑karti hai sirf teri baten,
Meri tanhaiyon 😑ko bhati hai sirf teti yaden,
Ek 👆 teri hi talash me to rahti hai meri aankhe👀,
Meri chand 🌙ke kisse us chand🌙se karte katati hai ye raten⭐,
Sapne sare bikhar the or sang unke main🙄 bhi,
Tune hi to tha sambhala mere sapno ko or mujhe😊 bhi,
Ki fir se ab sab bikhar gaya hai…… Intjar 😑hai tera….inhe bhi or mujhe bhi…
Ae jindagi♥️ tu wapas aaja, sambhal le sirf mujhe hi….!!




जिन्दगी के दौर में 🙄उलझी,
सुलझे ना सुलझेगी अब ये कहानी,
मुश्किलों से पिरोयी है खुशियां🤗 इसमें,
अक्स बयां😊 कर रहे है कैसे, देखो मेरी जुबानी,
ख़ास नहीं है कुछ बताने को,
बस दर्द😞 है जो शब्दों में झलक रहा है,
आदि नहीं उन सितारों🌠 की मैं,
बस खामोशियों😑 में ही सब सिमट 🙄रहा है,
पूछोगे😴 तो नहीं पर बता देती हूँ तुम्हें,
सोचोगे🤔 तो सही, तो चलो समझा देती हूँ तुम्हें,
हूँ नहीं🤷 कोई परवानी में,
पर चलो आज शमा ❣️की सैर करा देती हूँ तुम्हें l

Jindagi ke daur me 🙄uljhi,
Suljhe na suljhegi ab ye kahani,
Mushkilon se piroyi hai khushiya 🤗isme,
Aksh bayan😊kar rahe hai kese, dekho meri jubani,
Khas nahi hai kuch batane ko,
Bas dard😞hai jo shabdo me Jhalak raha hai,
Aadi nahi un sitaron 🌠ki main,
Bas khamoshiyon😑 me hi sab simat 🙄raha hai,
Puchoge 😴to nahi par bata deti hu tumhe,
Sochoge🤔to sahi, to chalo samjha deti hu tumhe,
Hun nahi 🤷koi parvani main,
Par chalo aaj shama ❣️ki sair kara deti hun tumhe….!!




जीना सिखाती है जिन्दगी 🤘 l
बचपन 👶में लड़खड़ा के चलाती है जिन्दगी,
गिराकर फिर उठाती 😚है जिन्दगी,
माँ बाप 👨‍👩‍👦 का प्यार बताती है🤘 जिंदगी,
जीना सिखाती है जिन्दगी 🤘l
माँ 🤰 की गोद 🙈 से अपने पैरों👣 पर चलना सिखाती है जिन्दगी,
प्यार 💖 का महत्व बताती है जिन्दगी,
कर्तव्य निभाना 🤝 सिखाती है जिन्दगी 🤘,
संघर्ष दोहराती है 🙄 जिन्दगी,
जीना सिखाती 🤗है जिन्दगी l
दुनिया 🌎 की समझ सिखाती है जिन्दगी,
रिश्तों का व्यापार बनाती है जिन्दगी 🤘,
मतलब कि गलत राह दिखाती है 🙄 जिन्दगी,
सही राह चुनना सिखाती 🤗 है जिन्दगी,
जीना सिखाती है जिन्दगी 🤘 l
जन्म👶 से म्रत्यु😰 की ओर ले जाती है जिन्दगी,
कर्मों की माया सिखाती 🤗 है जिन्दगी,
पाप पुण्य का हिसाब 📝 लगाती है जिन्दगी,
जीना सिखाती है जिन्दगी 🤘…!!

Jeena sikhati hai jindagi 🤘
Bachpan 👶me ladkhada ke chalati hai jindagi,
Gira kar fir uthati 😚hai jindagi,
Ma bap👨‍👩‍👦ka pyar batati 🤘hai jindagi,
Jeena sikhati hai jindagi 🤘,
Maa🤰ki god 🙈se apne pairon👣par chalna sikhati hai jindagi,
Pyar 💖ka mahatv batati hai jindagi,
Kartavy nibhana 🤝sikhati hai jindagi 🤘,
Sangharsh dohrati hai🙄 jindagi,
Jeena sikhati hai 🤗jindagi,
Duniya 🌎 ki samajh sikhati hai jindagi,
Rishton ka vyapar banati hai jindagi 🤘,
Matlab ki galat rah dikhati hai 🙄jindagi,
Sahi rah chunna sikhati 🤗hai jindagi,
Jeena sikhati hai jindagi 🤘,
Janm👶se mrityu 😌ki or le jati hai jindagi,
Karmo ki maya sikhati 🤗hai jindagi,
Pap punya ka hisab 📝 lagati hai jindagi,
Jeena sikhati hai jindagi 🤘….!!




जिन्दगी ने रोते वक़्त 🕗 हंसना सिखाया,
हंसते हंसते 😃रोना 😭 भी सिखाया,
कितनी हसीन है ना जिन्दगी 😎,
जिन्दगी 🤘 ने जीना सिखाया,
जिन्दगी ने बुरे 😴 दिन में जीना सिखाया,
जिन्दगी ने बुरे लोगों के साथ 🤝 चलना सिखाया,
जो इस जिन्दगी की दौड़ 🏇में रुक गया,
जिन्दगी 🤘 ने उसे ना 🤞 अपनाया…!!

Jindagi ne rote waqt🕗hasna sikhaya,
Haste haste 😃rona 😭bhi sikhaya,
Kitni haseen hai na jindagi 😎,
Jindagi 🤘 ne jeena sikhaya,
Jindagi ne bure😴 din me jeena sikhaya,
Jindagi ne bure logo ke sath🤝chalna sikhaya,
Jo is jindagi ki doud🏇me ruk gaya,
Jindagi🤘 ne use na🤞 apnaya….!!




कह रही है ये मुझसे ज़िंदगानी 


कह रही है मुझसे 🤗
अब ये मेरी भी जिंदगानी 😉
बना के कुछ शब्दों का कारवाँ 😘
लिख ✍️दे मेरी भी एक 👆 नायाब 😎कहानी,
नहीं 🤞 रहना मुझे भी इन तन्हाई में
कब 🙄 तक रहोगे मुझे बना के उन्ही बेगानी
आंसुओं 💦 से क्यूँ है अब तक मेरा वास्ता 🙄
चीखते है रोज यही अल्फाज़-ऐ – जिंदगानी 😉,
बहुत रह लिया मर मर के 😴
मैं भी हूँ बस तेरी ही दीवानी 😍
ऐसे ही थे कुछ अल्फाज़ – ऐ – जिंदगानी 😉,
हमने उसको बुलाया फिर समझाया 🤗
बस चलती रहेगी एक अनकही कहानी 😊
नहीं 🤞 है बस में मेरे चलना अलग रास्ता
चाहे जो भी हो तेरी अल्फाज़ – ऐ – जिंदगानी 😉,
देखे 👁️ जो सपने तेरी सलामत के खातिर
कैसे 🙄मिटाऊं उनकी असफल निशानी
जम गए हैं 🤐 दिल 💕 में जैसे लकीर ऐ पत्थर
रहेंगे जब 🤘 तक है जिंदगानी 😉.!!

Kah rahi hai mujhse🤗
Ab ye meri bhi jindgani 😉
Bana ke kuch shabdo ka carvan😘
Likh ✍️de meri bhi ek 👆 nayab😎 kahani,
Nahi 🤞 rahna mujhe bhi in tanhai me
Kab 🙄 tak rahoge mujhe bana ke unhi begani
Aasuon 💦 se kyu hai ab tak mera vasta🙄
Cheekhte hai roj yahi alfaz – ae- jindgani 😉,
Bahut rah liya mar mar ke😴
Main bhi hu bas teri hi diwani😍
Aese hi the kuch alfaz – ae – jindgani 😉,
Hamne usko bulaya fir samjhaya 🤗
Bas chalti rahegi ek ankahi kahani😊
Nahi 🤞 hai bas me mere chalna alag rasta
Chahe jo bhi ho teri alfaz – ae- jindgani 😉,
Dekhe 👁️ jo sapne teri salamat ke khatir
Kese🙄mutau unki asafal nishani
Jam gaye hai🤐dil 💕 me jese lakeer ae patthar
Rahenge jab tak hai jindgani 😉.!!




ऐ मन सुन 🤞..
ना तुझको मना सका, ना दुनिया 🌎 हुई मेरी,
बस ये ही चाहत😑 रह गयी अधूरी,
दोनों तरफ से हारा में 🤞 जिन्दगी 🤘 की बाजी,
दुनिया 🌎 ने मुझे लुटा अपना 😴 बना कर,
में सहता रहा गुमनाम 🙄 होकर,
अब जिन्दगी 🤘 को समझा दूँ,
जिन्दगी गवा कर..!!

E man sum🤞..
Na tujhko mana saka,na duniya 🌎 hui meri,
Bas ye chahat 😑rah gayi adhuri,
Dono tarf se haara me🤞 jindagi 🤘 ki baji,
Duniya 🌎 ne mujhe luta apna😴 bana kar,
Me sahta raha gumnam 🙄 hokar,
Ab jindagi 🤘 ko samjha du,
Jindagi gava kar..!!




Also see


Bewafa sad story Real story with poetry


life poetry in hindi


देखकर 👀ढलती शाम 🌃 को ऐसा लगता है,
ऐसे ही तो ढल रही है जिन्दगी 🤘,
कभी धूप 🌞, कभी छाँव, कभी ठंडी हवा सी बह रही जिन्दगी 🤘,
लेकिन चलती जा रही जिन्दगी 😊किसी छोटे बच्चे 👶की तरह,
भागती🏇 जा रही है जिन्दगी,
कभी संभलते 😑हुए, तो कभी लड़खड़ाते हुए सबको हंसाते 😊हुए,
बस चलती जा रही 😎 है जिन्दगी 🤘,
हर पल कुछ नया 😎सिखाते हुए,
चलती जा रही जिन्दगी 😊…!!

Dekh kar👀dhalti sham🌃ko aesa lagta hai,
Aese hi to dhal rahi hai jindagi 🤘,
Kabhi dhoop 🌞, kabhi chhav, kabhi thandi hawa si bah rahi hai jindagi 🤘,
Lekin chalti ja rahi hai jindagi 😊kisi chhote 👶bacche ki tarah,
Bhaagti 🏇ja rahi hai jindagi,
Kabhi sambhalte 😑hue, to kabhi ladkhadate hue sabko hasate😊 hue,
Bas chalti ja rahi😎 hai jindagi 🤘,
Har pal kuch naya 😎sikhate hue,
Chalti ja rahi hai jindagi 😊….!!




जिन्दगी 🤘 की गहराइयों को समेट कर,
कागज📄 के टुकड़ों को कलम ✏️ से रंगना मेरा काम है,
ये मेरी नाजुक सी कलम ✏️ लिखावट ✍️के लिए बदनाम है,
कविता को तो सुंदर वह पंक्ति बनाती है,
जिसका😊 अर्थ गूढ़ व सच्चा😘 हो,
और लोग हम से कहते है कि जनाब लिखते ✍️अच्छा हो..!!

Jindagi 🤘ki gahraiyon ko Samet kar,
Kagaj📄ke tukdon ko kalam ✏️ se rangna mera kam hai,
Ye meri najuk si kalam✏️likhavat ✍️ke liye badnam hai,
Kavita ko to sundar vah pankti banati hai,
Jiska😊arth goodh va saccha😘ho,
Or log humse kahte hai ki janab likhte ✍️accha ho…!!




यही तो जिन्दगी है 🤘,
कभी हंसाती😊 है, कभी रुलाती 😭है,
कुछ करना चाहो तो डराती😟 है,
ख़ुद से डरना छोड़ कर तो देखो 👀,
बंदिशें तोड़ 💔 कर तो देखो,
मुश्किलें 😑 बहुत आएंगी,
हर पल तुम्हें तड़पाएंगी 😖,
फिर एक 👆 ऐसा दिन भी आएगा,
तुम्हारा दिल 💕 भी मुस्कुरायेगा 😊,
मन ही मन कुछ सोचते 🤔हो ना,
अकेले में आंसू 💦पोंछते हो ना,
ख़ुद को इस जहान में कहीं खो 🙄देते हो ना,
जानता हूँ तुम रो 😥 देते हो,
जब अश्कों को कुछ नाम 😉 तो दो,
दुनिया 🌎 को एक पैगाम तो दो,
जानता हूँ बहुत कुछ करता है दिल ♥️,
पल पल दुनिया 🌎 से डरता है दिल,
जिस दिन डर पे काबू 😑पाओगे,
जरूर कुछ कर जाओगे 😉…

Yahi to jindagi hai🤘,
Kabhi hasati 😊hai, kabhi rulati😭hai,
Kuch karna chaho to darati 😟hai,
Khud se darna chhod kar to dekho👀,
Bandishen tod💔kar to dekho,
Mushkilen😑bahut aayengi,
Har pal tumhe tadpayengi😖,
Fir ek 👆 aesa din bhi ayega,
Tumhara dil💕bhi muskurayega😊,
Man hi man kuch sochte 🤔ho na,
Akele me aansu💦poochhte ho na,
Khud ko is jahan me kho🙄dete ho na,
Janta hu tum ro😥dete ho,
Jab askon ko kuch nam😉to do,
Duniya 🌎 ko ek paigam to do,
Janta hu bahut kuch karta hai dil♥️,
Pal pal duniya 🌎 se darta hai dil,
Jis din dar pe kabu😑paoge,
Jarur kuch kar jaoge😉….




life poetry in hindi

जिन्दगी 😎 से लड़ते लड़ते 😖हर एक जिंदा टूटता है,
हिम्मत परिंदे 🕊️की ना टूटे तो एक दिन पिंजरा टूटता है l
दुआ अक्सर उसी की कुबूल 🤗होते देखा है मैंने,
देखा है 👀जिसने की आसमा से सितारा ⭐टूटता है l
डोरी से बंधी पतंग 📧बड़े मौज से उड़ती है,
द्वेष से जब काटे कोई, साथ 🤝 तब ही टूटता 💔है l
बहुत लोग बैठा करते थे छाँव 🌴में उसकी,
लोगों के रस्ते में आता है पेड़ 🌳तब ही टूटता है l
किसी की बेरुखी से किसी को कोई फर्क नहीं 🤞 पड़ता,
खून के रिश्ते जब तीखे 🌶️ हों तब हर इंसान टूटता है l

Jindagi 😎 se ladte ladte 😖har ek jinda tootta hai,
Himmat parinde 🕊️ki na toote to ek din pinjra tootta hai,
Dua aksar usi ki qubool🤗hote dekha 👀hai mene,
Dekha hai👀jisne aasma se sitara ⭐tootta hai,
Dori se bandhi patang 📧bade mauj se udti hai,
Dwesh se jab kaate koi, sath 🤝 tab hi tootta💔 hai,
Bahut log betha karte the chhav🌴me uski,
Logo ke raste me aata hai ped🌳tab hi tootta hai,
Kisi ki berukhi se kisi ko koi fark nahi 🤞 padta,
Khoon ke rishte jab teekhe 🌶️ho tab har insan tootta hai…!!




बेवक़्त के पहरे लगाने लगे हैं लोग 😑,
मंदिरों में भी ताले🔒लगाने लगे हैं लोग,
जिन्हे अर्थ ना 🤞 पता गीता कुरान का🙄,
तूने उनको ☸ धर्म अधर्म सिखाया है,
ऐ जिन्दगी 🤘 तूने सच को बखूबी दिखाया है,
बेहिसाब सी ये कैसी 🙄हिस्सेदारी है,
जो कुछ देना हो तो,मेरी 🤐
और जो लेना तो तेरी बारी है 🙄,
रिश्तों को बेच देती है 🙄, सच को खरीद लेती है 😑,
ये कैसी विवशता और ये कौनसी लाचारी है 🙄,
आज फिर तूने लफ़्ज़ों से झूठ 😔तो बुलवाया है,
ऐ जिन्दगी 🤘 तूने सच को बखूबी दिखाया है..!!

Bewaqt ke pahre lagane lage hai log😑,
Mandiron me bhi tale🔒 lagane lage hai log,
Jinhe arth na 🤞 pata geeta quran ka🙄,
Tune unko ☸ dharm adharm sikhaya hai,
Ae jindagi 🤘tune sach ko bakhubi dikhaya hai,
Behisab si ye kesi🙄 hissedari hai,
Jo kuch dena ho to, meri🤐or jo lena ho to teri bari hai🙄,
Rishton ko bech deti hai🙄, sach ko kharid leti hai 😑,
Ye kesi vivashta or ye kesi lachari hai🙄,
Aj fir tune lafzo se jhuth😔to bulvaya hai,
Ae jindagi 🤘tune sach ko bakhubi dikhaya hai..!!




सब कुछ तो है उलझा 😴सा,
कुछ तो अब सुलझा दे 😑,
ऐ मेरी जिन्दगी मुझे अपना तू पता दे 😑,
आ के हो जा रूबरू ♥️ये दुनिया 🌎 मिटा दे,
ऐ मेरी जिन्दगी मुझे अपना तू पता दे 😑,
आजमाती है मुझे 😊 हर रोज तू क्यूँ 🙄इस तरह,
आ मुझे बता भी दे 😑 क्या मुझसे हो गयी 🤞 खता,
सारी शिकायततों को आ मिल कर जरा मिटा दे 😑,
ऐ मेरी जिन्दगी मुझे अपना तू पता दे 😑,
लगती है 🙄 क्युं तू नाराज सी,
क्यूं बंद है किताब 📒 सी,
क्या राज हैं 🤐 तुझ मे 🤘 दफन?
आ मुझको वो पढ़ा दे 😑,
ऐ मेरी जिन्दगी मुझे अपना तू पता दे 😑,
तेरे पते को जानकार मैं 😘तुझसे मिलने आऊंगी,
तुझसे करूँगी गुफ्तगू 😊तुझको गले लगाऊँगी🤗,
तू भी खुशी 🎉 ख़ुशी ही फिर संग मेरे 🤞 हो लेना,
तू हाथ 🖐️ फिर ना 🤞 छोड़ना, तुझको मेरी सौगंध है 😴,
तू जैसी भी है जिन्दगी 🤘 मुझको बड़ी पसंद है ♥️..!!

Sab kuch to hai uljha 😴sa,
Kuch to ab suljha de😑,
Aye meri jindagi mujhe apna tu pata de😑,
Aa ke ho ja rubaru ♥️ye duniya 🌎 mita de,
Aye meri jindagi mujhe apna tu pata de😑,
Ajmati hai mujhe har roj😊 tu kyu🙄is tarah,
Aa mujhe bata bhi de😑kya mujhse ho gayi 🤞 khata,
Sari shikayaton ko aa milkar jara mita de😑,
Aye meri jindagi mujhe apna tu pata de😑,
Lagti hai 🙄 kyu tu naraj si,
Kyu band hai kitab 📒 si,
Kya raj hai 🤐tujhme🤘 dafan? Aa mujhko vo padha de😑,
Aye meri jindagi mujhe apna tu pata de😑,
Tere pate ko jankar main😘tujhse milne augi,
Tujhse karungi guftagu 😊tujhko gale lagaungi🤗,
Tu bhi khushi 🎉khushi hi fir sang mere🤞 ho lena,
Tu hath 🖐️ fir na 🤞 chhodna, tujhko meri saugandh hai😴,
Tu jesi bhi hai jindagi 🤘 mujhko badi pasand hai♥️.!!




वक़्त की कीमत 


आज बेशक कोई कीमत नहीं 🤞,
पर कदर उनकी कल समझोगे 🤐,
जिस बे – फिक्री में आज चलते हो 😑,
उसी बे -फिक्री कल समझोगे 🤘,
आज बाजार में जो सस्ते हैं 🙄,
उन लोगों को जब 🤘 तुम समझोगे,
पैसों में उनकी कीमत नहीं 🤞,
ये राज तुम तब समझोगे 😴,
ना 🤞 जाने तुम कब 🙄 समझोगे,
कुछ अलग से होते है 🙄,
ख़ुद कितनी भी ठोकर 😴खा लें,
दूसरों के दर्द 😑 पर रोते 😭हैं,
बस वक़्त वक़्त 🕗 की बात है,
जब जानोगे तब समझोगे 😴,
जिसके वक़्त 🕗 की कदर तुम्हें आज नहीं 🤞,
उसे सही वक़्त पर 😘 समझोगे.!!

Waqt 🕗 ki keemat…

Aaj beshak koi keemat nahi 🤞,
Par kadar kal unki samjhoge 🤐,
Jis be-fikri me aj chalte ho😑,
Usi be – fikri kal samjhoge🤘,
Aaj bajar me jo saste hai🙄,
Un logo ko jab🤘tum samjhoge,
Peso me unki keemat nahi 🤞,
Ye raj tum tab samjhoge 😴,
Na 🤞 jane tum kab 🙄 samjhoge,
Kuch alag se hote hai🙄,
Khud kitani bhi thokar😴kha le,
Dusron ke dard 😑 par rote😭hai,
Bas waqt waqt 🕗 ki bat hai,
Jab janoge tab samjhoge 😴,
Jiske waqt 🕗 ki kadar tumhe aaj nahi🤞,
Use sahi waqt par 😘samjhoge..!!


Read More 



Leave a Comment